मामूली जलन वह है जो त्वचा की केवल ऊपरी परतों को नुकसान पहुँचाती है, जिससे वह क्षेत्र लाल और दर्दनाक हो जाता है। उन्हें अक्सर पहली डिग्री का जलना या सतही जलने के रूप में जाना जाता हैं। वे गर्म तरल पदार्थ या वस्तुओं, भाप या तेज धुप के संपर्क के कारण हो सकते हैं। यदि समय पर इलाज नहीं किया जाता है तो मामूली जलने से दर्दनाक छाले विकसित हो सकते हैं। कई प्राकृतिक उपचार है जो इसका इलाज करके दर्द को कम कर सकते हैं। मामूली जलन के कुछ दिनों के भीतर या तीन सप्ताह तक में आपको ठीक कर देते हैं।

यहाँ मामूली जलने के लिए 10 घरेलू उपचार दिए जा रहे हैं जिनका उपयोग करके आप ऐसी जलन की पीड़ा से राहत पा सकते हैं।

जलने पर उपचार करें ठंडे पानी से – Cold Water for burns in Hindi

जलने के कुछ सेकंड के अंदर ही जलन वाले स्थान पर कई मिनट तक नल खोल कर पानी डालकर जलन को रोके। आप प्रभावित क्षेत्र पर एक ठंडा सेक भी रख सकते है। परेशानी से राहत के लिए हर कुछ घंटे में यह उपाय दोहराएँ। बर्फ का प्रयोग न करें क्योंकि यह रक्त के प्रवाह को सीमित कर सकती है, जो अंततः नाजुक ऊतकों को नुकसान पहुंचा सकती है।

जलने के उपचार में कच्चा आलू है उपयोगी – Raw Potato for burns in Hindi

कच्चे आलू अपने एंटी-इर्रिटेटिंग और सुखदायक गुणों के कारण त्वचा के जलने का इलाज कर सकते हैं। इससे दर्द कम हो जाएगा और छाले होने की संभावना भी कम हो जाएगी। बस कच्चे आलू का टुकड़ा काट कर जली जगह पर रगड़े, सुनिश्चित करें कि आलू से रस उस क्षेत्र पर स्रावित हो रहा है। एक अन्य विकल्प कच्चे आलू को छील कर प्रभावित क्षेत्र पर लगभग 15 मिनट के लिए लगाना है। सर्वोत्तम परिणामों के लिए, जलने के तुरंत बाद इनमें से किसी भी उपचार का प्रयोग करें।</>

जलने का इलाज करने में एलो वेरा करेगा आपकी मदद – Aloe Vera for burns in Hindi

एलो वेरा में अस्ट्रिन्जन्ट और ऊतक के इलाज वाले गुण हैं जो जलने के उपचार में मदद कर सकते हैं। एलो वेरा के पत्ते का एक छोटा टुकड़ा काट कर इसका ताजा जेल सीधे जली सतह पर लगाएँ। आप एक चम्मच एलो वेरा जेल और हल्दी का मिश्रण करके भी जली त्वचा पर लगा सकते हैं। यदि आपके पास एलो वेरा का पौधा नहीं है, तो आप एक ऐसी क्रीम भी लगा सकते हैं जिसमें एक घटक के रूप में एलो वेरा हो।

जलने का घरेलू उपचार है नारियल तेल और नींबू का रस – Coconut oil and Lemon for burns in Hindi

loading...

नारियल का तेल औरनींबू का रस दोनों जलने के इलाज में मदद कर सकते हैं, जब घाव ठंडा और सूख जाता है। नारियल का तेल विटामिन E और फैटी एसिड जैसे लॉरिक एसिड, मैरीस्टिक एसिड और कैप्रीलिक एसिड में समृद्ध है, जो कि एंटी-कवक, एंटीऑक्सिडेंट और एंटी-बैक्टीरियल लाभ प्रदान करता है। नींबू के रस में अम्लीय गुण होते हैं जो स्वाभाविक रूप से निशान को हल्का करते हैं।

नारियल के तेल में थोड़ा नींबू का रस निचोड़े तथा ठीक से मिक्स करें और इसे उपचार के लिए प्रभावित क्षेत्र पर लगाएँ।

h2>जले का घरेलू उपचार भी हैं गुणकारी शहद – Honey for burns in Hindi

शहद के एंटीबायोटिक और जलन कम करने वाले गुणों के कारण, यह प्रभावी रूप से घावों को असंक्रमित कर सकता है और जलन को ठीक करने में मदद करता है। यह हाईपरट्रोपिक निशान के विकास की संभावना भी कम कर देता है। गॉज़ पट्टी पर शहद को फैलाएं और जले स्थान पर सीधे रख दें। इस पट्टी को दिन में तीन से चार बार बदलें।

डिस्क्लेमर: इस पोस्ट में व्यक्त की गई राय लेखक के व्यक्तिगत विचार हैं। जरूरी नहीं कि वे विचार या राय www.socialsandesh.in के विचारों को प्रतिबिंबित करते हों .कोई भी चूक या त्रुटियां लेखक की हैं और social sandesh की उसके लिए कोई दायित्व या जिम्मेदारी नहीं है ।

सभी चित्र गूगल से लिया गया है

Loading Facebook Comments ...

LEAVE A REPLY