Spirituality

रावण की थी ये 7 इच्छायें जो वो पूरी करना चाहता था लेकिन नही कर पाया |

आश्विन मास के शुक्ल पक्ष की दशमी तिथि को विजयादशमी का पर्व मनाया जाता है। इस पर्व को अधर्म पर धर्म की जीत के रूप में मनाया जाता है। धर्म ग्रंथों के अनुसार इसी तिथि पर भगवान श्रीराम ने रावण का वध किया था। आज हम आपको वो बातें बता रहे हैं जो रावण,...

कर्म का हिसाब

एक बार एक बीबी थी। बहुत ज्यादा भजन सिमरन करना सेवा करनी किसी को कभी गलत न बोलना, सब से प्रेम से मिलकर रहना उस की आदत बन चुकी थी। वो सिर्फ एक चीज़ से दुखी थी के उस का आदमी उस को रोज़ किसी न किसी बात पर लड़ाई झगड़ा करता। उस आदमी...

एक मंदिर ऐसा भी जनहा भगवान को चढ़ाया जाता है चॉकलेट

दोस्तो  वैसे तो हम मंदिर मे अपनी श्रद्धा से पता नहीं क्या क्या चढ़ते हैं कोई फूल चढ़ता है तो कोई फल तो कोई मिठाई तो जेवर और पता नहीं क्या क्या पर दोस्तों आज हम जिस मंदिर के बारे मर बताने जा रहे हैं वह चाओकलेट चढ़ाया जाता है। यह मंदिर दक्षिण भारत के...

क्यों किए जाते हैं कपूर से जुड़े ये पांच टोटके

हिंदू धर्म में होने वाले तमाम पूजा-पाठ में कपूर का इस्तेमाल किया जाता है। कपूर जलाकर आरती करने का भी प्रचलन है। इन सबके बीच कपूर से जुड़े कुछ टोटकों का इस्तेमाल भी खूब किया जाता है। कहा जाता है कि ये टोटके कई तरह की परेशानियों से बचाते हैं। क्या आपको इन टोटकों...

कौन थीं भगवान राम की बहन, जानिए –

श्रीराम के माता-पिता, भाइयों के बारे में तो प्रायः सभी जानते हैं लेकिन बहुत कम लोगों को यह मालूम है कि राम की एक बहन भी थीं जिनका नाम शांता था। वे आयु में चारों भाइयों से काफी बड़ी थीं। उनकी माता कौशल्या थीं। उनका विवाह कालांतर में श्रृंगी ऋषि से हुआ था। आज...

कन्हैया बोले माँ एक बात बताओ ” सारे विश्व में सबसे कोमल वस्तु कौन सी है”

श्री राधा🌺🙌🏻🌺 एक बार की बात है श्री श्यामसुंदर माता अम्बिका के मंदिर गए, और उनसे प्रार्थना करने लगे l हे अंबिके, आप मुझ पर कृपा करो- माँ बोली, गोबिंद आप यहाँ आ गए हो सायं में यशोदा मैया आपकी इंतज़ार कर रही होगी तो मैंने आपका एक रूप मैया के पास स्थापित कर दिया है...

दूसरों को सही-गलत साबित करने में जल्दबाजी न करें | 2 कहानियाँ

पहली कहानी : ट्रेन में एक पिता-पुत्र सफर कर रहे थे. 24 वर्षीय पुत्र खिड़की से बाहर देख रहा था, अचानक वो चिल्लाया – पापा देखो पेड़ पीछे की ओर भाग रहे हैं ! पिता कुछ बोला नहीं, बस सुनकर मुस्कुरा दिया. ये देखकर बगल में बैठे एक युवा दम्पति को अजीब लगा और उस लड़के के...

विष्‍णु के 10 अवतार : भगवान श्रीहरि के दशावतार की 10 प्रामाणिक कथाएं..

मत्स्य अवतार : पुराणों के अनुसार भगवान विष्णु ने सृष्टि को प्रलय से बचाने के लिए मत्स्यावतार लिया था। इसकी कथा इस प्रकार है- कृतयुग के आदि में राजा सत्यव्रत हुए। राजा सत्यव्रत एक दिन नदी में स्नान कर जलांजलि दे रहे थे। अचानक उनकी अंजलि में एक छोटी सी मछली आई। उन्होंने देखा तो...

गुज़री का भगवत प्रेम

करौली के बुगडार ग्राम में एक भोली-भाली गरीब गूजरी रहती थी।वह भगवान मदनमोहन जी की अनन्य भक्त थी। भगवान मदनमोहन भी उससे बहुत प्रसन्न रहते थे।वे उसे स्वप्न में दर्शन देते और उससे कभी कुछ खाने को माँगते, कभी कुछ । वह दूसरे दिन ही उन्हें वह चीज भेंट कर आती, पर वह उनकी...

एक समय श्रीगुसांईजी परदेश गये थे।

रास्ते मे एक ऐसा गांव मिला जिसमें कोई भी वैष्णव नहीं था।श्रीगुसांईजी ने कहा-चाचाजी इस रास्ते होकर कभी नहीं निकले होंगे।यदि वे निकले होते तो यहां वैष्णव का अभाव नहीं रहता।'वास्तव मे चाचाजी ऐसे कृपापात्र थे,वे जिस मार्ग से निकलते थे,जिन लोगों से भी मिलते थे,उनका मन श्रीप्रभु मे अवश्य लग जाता था।' यह सही...