Spirituality

भारत के सात महान संत

मित्रो प्रस्तुत प्रस्तुति में भारत के सात महान संतों के बारे में बतायेगें, जिन्हें हम सब सप्तर्षियों के नाम से जानते हैं!!!!! ऋग्वेद में लगभग एक हजार सूक्त हैं, याने लगभग दस हजार मन्त्र हैं। चारों वेदों में करीब बीस हजार से ज्यादा मंत्र हैं और इन मन्त्रों के रचयिता कवियों को हम ऋषि कहते...

आत्मज्ञान से ही प्रेम संभव है : निष्काम प्रेम की शर्तें

आत्मज्ञान वह बीज है जो व्यक्ति के मन में प्रेम रूपी पौधे का विकास करता जाता है| पुराने ऋषि मुनि, संत और हमारे वेद पुराण आत्मज्ञान का रास्ता बतलाते आये हैं| आज हम बात करेंगे कि संत के मन में प्रेम कैसा हो ? यानि प्रेम का असली रूप कैसा होना चाहिए अत्यंत सादगी भरा...

एक प्रसंग जिंदगी का

*एक राजा बहुत दिनों से पुत्र की प्राप्ती के लिये आशा लगाये बैठा था,* *पर पुत्र नही हुआ।* *उसके सलाहकारों ने तांत्रिकों से सहयोग की बात बताई।* *सुझाव मिला कि किसी बच्चे की बलि दे दी जाये तो पुत्र प्राप्ती हो जायेगी।* *राजा ने राज्य में ये बात फैलाई कि जो अपना बच्चा देगा* *उसे बहुत सारे धन दिये...

श्याम सुंदर की सुंदर लीला

एक गोपी एक वृक्ष के नीचे ध्यान लगा बैठ जाती है। कान्हा को सदा ही शरारतें सूझती रहती हैँ। कान्हा कभी उस गोपी को कंकर मारकर छेड़ते हैं कभी उसकी चोटी खींच लेते हैं तो कभी अलग अलग पक्षियों और जानवरों की आवाज़ निकाल उसका ध्यान भंग करते हैं । गोपी खीझ कर कान्हा...

राधा का दर्द

राधा का दर्द ......... अब तक का सबसे सुदंर मैसेज ......... ये पढने के बाद एक "आह" और एक "वाह" जरुर निकलेगी... कृष्ण और राधा स्वर्ग में विचरण करते हुए अचानक एक दुसरे के सामने आ गए विचलित से कृष्ण- प्रसन्नचित सी राधा... कृष्ण सकपकाए, राधा मुस्काई इससे पहले कृष्ण कुछ कहते राधा बोल💬 उठी- "कैसे हो द्वारकाधीश ??" जो राधा उन्हें कान्हा कान्हा कह के बुलाती...

खजुराहो के मंदिर : दिवारों पर कामुकता का दिखावा क्‍यों?

भारतीय संस्कृति के कई ऐसे पहलू हैं जिनका लक्ष्य या फिर अर्थ भी समझना मुश्किल लगता है। खजुराहो उन्हीं में से एक है। इन मंदिरों की बाहरी दीवारों पर कामुकता से भरी मूर्तिकला को दर्शाया गया है। क्या किसी ख़ास लक्ष्य से ऐसा किया गया था? प्रश्न: सद्‌गुरु, खजुराहो में यौन संबंधों को खुले तौर पर दर्शाती मूर्तिकला देखने को मिलती...

ध्यान को स्थिर करने के लिए एक सरल साधना

जानते हैं एक सरल साधना जिसे रोज़ करके आप धीरे धीरे ध्यान को स्थिर कर सकते हैं। ये प्रक्रिया आपको रोज़ सोने से पहले करनी है। प्रश्न : सद्‌गुरु, मैं अपनी एकाग्रता को लेकर बहुत परेशान रहता हूं। मेरा ध्यान आसानी से भटक जाता है। मैं अपना ध्यान एक दिशा में कैसे केंद्रित करूं? सद्‌गुरु : किसी खास दिशा...

बता मेरे यार सुदामा रे

इस स्कूल के लड़कियो के सॉन्ग को अब तक 3 करोड़ लोग youtube पर देख चुके हैं तो क्या आप नही देखना चाहेंगे।