Story

बेटी, सुखी रहो

खुशबू के ऑफिस मेट राघव ने जब आज अचानक खुशबू के सामने मैरिज प्रपोजल रखा तो खुशबू एकदम हड़बड़ा गयी और "राघव मुझे सोचने का वक़्त दो" कहकर ऑफिस से जल्दी घर आ गयी ....दरअसल उसके सहकर्मी राघव की पत्नी पिछले साल एक बच्ची को जन्म देते समय परलोक सिधार गयी इधर खुशबू भी...

भैया की मुनकी (पत्नी या दासी) -सुनीता पवार

"कैसी है तू मुनकी...ससुराल में दिल लग गया तेरा..और बता कैसा लग रहा है तुझे अपना नया संसार..कोई तकलीफ हो तो मुझे बताना"...बिटू ने अपनी बहन पर प्रश्नों की झड़ी सी लगा दी थी..! मुनकी की शादी को 20 दिन बीत चुके थे.शादी की सारी रस्में खत्म हो चुकी थी.एक हफ्ता मुनकी ओर किशन हिमाचल...

कौन सबसे योग्य?

एक बार एक शिष्य ने अपने गुरू से पूछा, गुरूजी आप मुझे ये बताये हाथी अधिक शक्तिशाली होता हैं या चूहा, शेर में अधिक योग्यता होती हैं,या गीदड़ में। शिष्य की बात सुनकर गुरूजी मुस्कुराये और बोले, सभी अपने अपने स्थान पर समान रूप से शक्तिशाली और योग्यतावान होते हैं। गुरु जी की बात...

गीली मिट्टी-अमृतराय

नींद में ही जैसे मैंने माया की आवाज़ सुनी और चौंककर मेरी आंख खुल गई। बगल के पलंग पर नज़र गई, माया वहां नहीं थी। आज इतने सवेरे माया कैसे उठ गई, कुछ बात समझ में नहीं आई । आवाज़ दरवाज़े पर से आई थी । मैं हड़बड़ाकर उठा और वहां पहुंचा, तो क्या देखता...

लड़कियो पर अत्याचार

आज मेरी माहवारी का दूसरा दिन है। पैरों में चलने की ताक़त नहीं है, जांघों में जैसे पत्थर की सिल भरी है। पेट की अंतड़ियां दर्द से खिंची हुई हैं। इस दर्द से उठती रूलाई जबड़ों की सख़्ती में भिंची हुई है। कल जब मैं उस दुकान में ‘व्हीस्पर’ पैड का नाम ले फुसफुसाई थी, सारे लोगों की...

उद्धार – मुंशी प्रेमचन्द्र

हिंदू समाज की वैवाहिक प्रथा इतनी दुषित, इतनी चिंताजनक, इतनी भयंकर हो गयी है कि कुछ समझ में नहीं आता, उसका सुधार क्योंकर हो।  बिरलें ही ऐसे माता−पिता होंगे जिनके सात पुत्रों के बाद एक भी कन्या उत्पन्न हो जाय तो वह सहर्ष उसका स्वागत करें। कन्या का जन्म होते ही उसके विवाह की चिंता सिर...

एकनाथ से प्रभावित हो चोरों ने लिया चोरी न करने का संकल्प

विख्यात संत एकनाथ बारह वर्ष की अवस्था में ही अपने गुरु के पास देवगढ़ पहुंच गए थे। गुरु ने उन्हें आश्रम के हिसाब-किताब का काम सौंप दिया। एक दिन जब एकनाथ ने हिसाब और रोकड़ का काम किया तो एक पाई की कमी थी। खूब सोचने के बाद आखिरकार उन्हें आधी रात को उस...

कान्हा पर विश्वास

एक भक्त परिवार था। पूरा परिवार कान्हा जी का भक्त था। वो अपने कृष्णा से बहुत प्यार करता था। उन्होंने अपने घर में ठाकुर जी को विराजमान किया हुआ था। परिवार का एक नियम था ; वो लोग कहीं भी बाहर जाते तो , अपने ठाकुर जी के सामने माथा टेकते थे,और जब वापिस आते...

बहु नहीं बेटी हैं हमारी…पहला भाग-SHANKI KASHYAP

‌आज सुजाता बहुत व्यस्त थी.उसकी एकलौती ननद सीमा को आज रवि अपने परिवार के साथ देखने आया था..लड़के वालों को सीमा बहुत पसंद आई. सुजाता के परिवार को भी रवि और उसका परिवार बहुत पसंद आया. रवि के पिता बार-बार कह रहे थे बहु नहीं बेटी बनकर रहेगी सीमा हमारे घर.आप बिल्कुल चिंता ना...

अटूट बंधन लड्डू गोपाल से️

यमुना नदी के किनारे फूस की एक छोटी से कुटिया में एक बूढ़ी स्त्री रहा करती थी। वह बूढ़ी स्त्री अत्यंत आभाव ग्रस्त जीवन व्यतीत किया करती थी। जीवन-यापन करने योग्य कुछ अति आवश्यक वस्तुयें, एक पुरानी सी चारपाई, कुछ पुराने बर्तन बस यही उस स्त्री की संपत्ति थी। उस कुटिया में इन वस्तुओं...