Shayari

Shayari

हर दिल में एक तराजू है बिन तोले  कोई क्या देगा कागज़ पे नही तो दिल में सही पूरा हिसाब लगा लेगा मानो न मानो पर सच है दिल से हम व्यापारी हैं आँखों आँखों में तोलते है कि  सौदा  कितना भारी है कहाँ कहँ कितना कितना फायदा हम को होना किससे  कितना मिलना है और किस संग कितना...