ग्रीन टी के फायदे और नुक्सान

0
598

ग्रीन टी आजकल बहुत तेजी से लोकप्रिय हो रही है. ग्रीन टी को कैमिला साइनेंसिस की पत्तियों को सुखाकर बनाया जाता है. तो आइए आज हम जानते हैं कि ग्रीन टी (हरी चाय) के क्या-क्या फायदे हैं और इसके क्या-क्या नुकसान हैं. इसे कितनी मात्रा में पीना चाहिए, इत्यादि.ग्रीन टी (हरी चाय) के फायदे :
ग्रीन टी सुबह-सुबह खाली पेट नहीं पीना चाहिए.
ग्रीन टी के साथ दवा न लें, दवा पानी के साथ हीं लें.
ग्रीन टी हमारे शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाता है.
ग्रीन टी कैंसर सेल्स को बढ़ने से रोकती है. ग्रीन टी नियमित पीने से मूत्राशय के कैंसर की आशंका नहीं के बराबर रह जाती है.
ग्रीन टी ब्लडप्रेशर को नियन्त्रण में रखता है.
इसे पीने से दिल का दौरा पड़ने की सम्भावना कम हो जाती है.
हार्ड ग्रीन टी नहीं पीनी चाहिए, इससे पेट की समस्याएँ हो सकती है, नींद आने में समस्या हो सकती है, चक्‍कर आने जैसी समस्‍या पैदा हो सकती है.
ग्रीन टी वजन कम करने में मदद करती है, यह फालतू कैलोरी बर्न करने में मदद करती है.
अगर आप हर दिन दो-तीन कप से ज्‍यादा ग्रीन टी पियेंगे तो यह आपको नुकसान पहुंचाएगी.
दांत के रोग फैलाने वाले बैक्टीरिया को ग्रीन टी खत्म कर देती है. यह मुंह में बदबू पैदा करने वाली बैक्टीरिया के विकास को कम कर देती है.
हमेशा ताजी ग्रीन टी पियें.
ग्रीन टी ब्‍लड शुगर को नियंत्रित करने में मदद करता है.
ग्रीन टी में पाया जानेवाला अमीनो एसिड चिंता दूर करने में मदद करता है.
ग्रीन टी में हाई फ्लोराइड नाम का chemical पाया जाता है. यह हड्डियों को मजबूत रखने में मदद करता है. यह बोन डेंसिटी बनाए रखने में मदद करता है.
ग्रीन टी फ़ूड पोइसोनिंग से बचाता है.
ग्रीन टी एंटी एजिंग दवा का काम करता है.

Loading...

LEAVE A REPLY