रोज खाली पेट खाएं लहसुन और हो जाये निरोग

0
501

लहसुन आमतौर पर किचन में आसानी से उपलब्ध होने वाली चीज है, हम सब्जी आदि में अच्छे टेस्ट के लिए लहसुन का इस्तेमाल करते हैं। इसके अलाबा लहसुन के कई और भी फायदे हैं जिसे लोग नहीं जानते, रोज नियनित तौर पर लहसुन का सेवन शरीर की तमाम व्याधियों को दूर कर देता है।लहसुन कई बीमारियों की रोकथाम और उपचार के लिए उपयोग कर सकते हैं। रोज सुबह खाली पेट लहसुन की खाने से कई रोगों की समस्या का समाधान होता है। निहार मुंह (खाली पेट) लहसुन खाने से शरीर की ताकत बढ़ती है। लहसुन एक महत्वपूर्ण प्राकृतिक एंटीबायोटिक की तरह काम करता है। हम आपको बता रहे हैं लहसुन के सेवन से होने वाले तमाम फायदों के बारे में।

  1. लहसुन खाने से हाइपरटेंशन के लक्षणों से आराम मिलता है। यह ब्लड सर्कुलेशन को ठीक करता है। दिल से संबंधित समस्याओं को भी दूर करता है। लीवर और मूत्राशय को भी सुचारू रूप से काम करने में सहायक होता है।
  2. आयुर्वेद में लहसुन को जवान बनाए रखने वाली औषधियों में प्रयोग किया जाता है। यह जोड़ों के दर्द में भी अचूक दवा है। लहसुन हाई बीपी से भी बचाता है।
  3. पेट से जुड़ी कई  समस्याओं जैसे डायरिया आदि के उपचार में भी लहसुन काफी फायदेमंद होता है। लहसुन तंत्रिकाओं से संबंधित बीमारियों को दूर करने में बहुत लाभकारी होता है, लेकिन केवल तभी जब इसे खाली पेट खाया जाए।
  4. लहसुन पाचन तंत्र को भी ठीक करता है। इसके सेवन से भूख भी बढ़ती है। जब भी आपको घबराहट होती है तो पेट में एसिड बनता है। लहसुन इस एसिड को बनने से रोकता है।
  5. लहसुन का सेवन तनाव कम करने में भी सहायक होता है। इससे हाइपरटेंशन और सिरदर्द जैसी समस्याओं का समाधान करता है।
  6. जब डिटॉक्सिफिकेशन की बात आती है तो वैकल्पिक उपचार के रू प में लहसुन बहुत प्रभावी होता है। लहसुन शरीर को सूक्ष्मजीवों और कीड़ों से बचाता है।
  7. लहसुन श्वसन तंत्र के लिए बहुत लाभदायक होता है। यह अस्थमा, निमोनिया, जुकाम, ब्रोंकाइटिस, पुरानी सर्दी, फेफड़ों में जमाव और कफ आदि की रोकथाम व उपचार में बहुत प्रभावशाली होता है।
  8. ट्यूबरकुलोसिस (तपेदिक) में लहसुन पर आधारित इस उपचार को अपनाएं। एक दिन में लहसुन की एक पूरी गांठ खाएं। टी.बी में यह उपाय बहुत असरदार साबित होता है।
  9. लहसुन का सवेन करना सर्दियों में ज्यादा फायदेमंद होता है, इससे खून का जमाव नहीं होता है और हार्ट अटैक होने का खतरा कम रहता है।
Loading...

LEAVE A REPLY