सरकार ने शनिवार को सैनेटरी नैपकिन पर जीएसटी खत्म कर दिया। पहले इस पर 12% टैक्स लगता था। जीएसटी काउंसिलने 28% स्लैब वाले 30 से ज्यादा उत्पादों पर जीएसटी घटा दिया। बांस की फ्लोरिंग पर जीएसटी 18% से घटाकर 12% किया गया। पेट्रोल में इस्तेमाल होने वाले एथेनॉल पर जीएसटी 18% से घटाकर 5% किया गया।

जीएसटी में एक साल में यह तीसरा बड़ा बदलाव है। इससे पहले नवंबर 2017 में 213 सामानों और जनवरी 2018 में 54 सेवाएं और 29 चीजें सस्ती हुई थीं। नई टैक्स दरें 27 जुलाई से लागू होंगी।

ये चीजें टैक्स फ्री:सैनेटरी नैपकिन, बिना सोने-चांदी वाली राखियां, मार्बल या लकड़ी से बनने वाली मूर्तियां, हैंडीक्राफ्ट से जुड़ी चीजें।

ये सस्ती होंगी: 68 सेमी तक के टीवी, फ्रिज, एसी, वॉशिंग मशीन, मिक्सर-ग्राइंडर-जूसर, वॉटर कूलर, वॉटर हीटर, शेवर, लीथियम आयरन बैटरी, हैंडलूम की दरी, बुनी हुई टोपियां, सेंट, परफ्यूम, 1000 रुपए तक के जूते।

जीएसटी रिटर्न भरने की प्रक्रिया आसान की:जीएसटी काउंसिल की बैठक में जीएसटी रिटर्न भरने की प्रक्रिया को और आसान बनाने की मंजूरी दी। अब कारोबारियों को सिंगल पेज रिटर्न भरना होगा। इसके अलावा, अब एक महीने में तीन की जगह सिर्फ एक रिटर्न दाखिल करना होगा।

सालाना पांच करोड़ रुपए तक टर्नओवर वाले कारोबारी तिमाही रिटर्न भर सकेंगे। काउंसिल ने जीएसटी कानून में प्रस्तावित 46 बदलावों को मंजूरी दी। चीनी पर सेस लगाने को लेकर कोई फैसला नहीं हुआ। शुगर सेस पर मंत्रिसमूह की अगली बैठक केरल में होगी।

 

डिस्क्लेमर: इस पोस्ट में व्यक्त की गई राय लेखक के व्यक्तिगत विचार हैं। जरूरी नहीं कि वे विचार या राय www.socialsandesh.in के विचारों को प्रतिबिंबित करते हों .कोई भी चूक या त्रुटियां लेखक की हैं और social sandesh की उसके लिए कोई दायित्व या जिम्मेदारी नहीं है ।

सभी चित्र गूगल से लिया गया है

Loading Facebook Comments ...

LEAVE A REPLY