जानिए हनुमाजी की किस फोटो की पूजा से मिलता है क्या फल

0
139

भाग्य की बाधाओं को दूर करने के लिए हनुमानजी की पूजा सबसे अच्छा और कारगर उपाय है। यदि हम नियमित रूप से पूजा नहीं कर सकते हैं तो हनुमानजी की फोटो के दर्शन रोज करना चाहिए। इसके लिए घर में हनुमानजी की फोटो लगा सकते हैं। आइए जानते है हनुमाजी की किस फोटो की पूजा से क्या फल मिलता है
दुर्भाग्य दूर करने का उपाय
दुर्भाग्य दूर करने के लिए हनुमानजी की ऐसी फोटो की पूजा करनी चाहिए, जिसमें वे श्रीराम, लक्ष्मण और सीता की आराधना कर रहे हैं। भक्ति भाव वाली फोटो की पूजा करने से हनुमानजी जल्दी प्रसन्न होते है।
नौकरी और प्रमोशन का उपाय
नौकरी और प्रमोशन पाने के लिए हनुमानजी की ऐसी फोटो की पूजा करें, जिसमें उसका स्वरुप सफ़ेद हो। फोटो में हनुमानजी के वस्त्र रंगीन हो सकते हैं। ऐसी फोटो के रोज़ दर्शन करने और पूजा करने से नौकरी में लाभ मिल सकता है।
भक्त हनुमान की फोटो
इस स्वरुप में हनुमानजी श्रीराम की भक्ति में लीन दिखाई देते हैं। इस स्वरुप की पूजा से एकाग्रता और शक्ति मिलती है। लक्ष्यों को प्राप्त करने में आ रही परेशानियां दूर हो जाती है।
सेवक हनुमान की फोटो
इस स्वरुप में हनुमानजी श्रीराम की सेवा में लीन दिखाई देते हैं। इस स्वरुप की पूजा करने पर सेवा और समर्पण की भावना जागृत होती है। व्यक्ति को परिवार और कार्य स्थल पर सभी बड़े लोगों का विशेष स्नेह प्राप्त होता है।
वीर हनुमान की फोटो
वीर हनुमान स्वरुप में साहस, बल, पराक्रम व आत्मविश्वास दिखाई देता है। हनुमानजी ने अपने साहस और पराक्रम से कई राक्षसों को नष्ट किया और श्रीराम संवारे। वीर हनुमान की पूजा से भक्तों को भी साहस की प्राप्ति होती है।
सूर्यमुखी हनुमान की फोटो
सूर्यदेव हनुमानजी के गुरु हैं। सूर्य और सूर्य का प्रकाश गति और ज्ञान के प्रतिक हैं। जिस तस्वीर में हनुमानजी सूर्य की पूजा कर रहे हैं या सूर्य की ओर देख रहे है, उस स्वरुप की पूजा करने पर ज्ञान, गति, उन्नति और सम्मान मिलता है।
उत्तरमुखी हनुमान की फोटो
देवी-देवताओं की दिशा उत्तर मानी गई है। हनुमानजी की जिस फोटो का मुख उत्तर दिशा की ओर होता है, वह हनुमानजी का उत्तरामुखी स्वरुप है। इसकी पूजा करने पर सभी देवी-देवताओं की कृपा प्राप्त होती है। घर में शुभ वातावरण रहता है।
दक्षिणमुखी हनुमान की फोटो
हनुमानजी की जिस फोटो का मुख दक्षिण दिशा की ओर होता है, वह हनुमानजी का दक्षिणमुखी स्वरुप है। दक्षिण दिशा यमराज की दिशा मानी जाती है। इसलिए दक्षिणमुखी हनुमान की पूजा करने पर मृत्यु भय और चिंताएं समाप्त होती हैं।

Loading...

LEAVE A REPLY