दोस्तों आप अपने घर के बाहर जो पौधे लगाते ही हैं लेकिन आज मैं आपको अपने घर के अंदर पौधे लगाने के फायदे बताऊंगा

दोस्तों लोग अपने घर को खूबसूरत बनाने के लिए क्या-क्या नहीं करते हैं दीवारों को शानदार कलर किया जाता है

उसमें मिलते जुलते पर्दे लगाए जाते हैं घर को इंटीरियर ठीक किया जाता है लड़कियों का डेकोरेशन किया जाता है

दीवारों पर बड़ी-बड़ी पेंटिंग्स लगाई जाती है अपने घर के अंदर आर्टिफीसियल पौधे भी लगाते हैं

बगीचे जैसा दिखे लेकिन आज मैं आपको आर्टिफिशियल नहीं नेचुरल पौधे लगाने के फायदे के बारे में बताऊंगा

loading...

 

अगर आप अपने घर में नेचुरल पौधे लगाते हैं तो आपके घर के दूषित वायु हो यह पौधे साफ कर देते हैं क्योंकि आपको तो पता ही है कि पौधे दूषित पानी को साफ करते हैं

क्योंकि आजकल घरों में भी वायु प्रदूषण बढ़ता जा रहा है क्योंकि सबके घरों में फ्रिज एसी का इस्तेमाल होता है जिसमें काफी क्लोरोफ्लोरोकार्बन निकलता है

इसमें क्लोरोफ्लोरोकार्बन निकलता है यह आपके घर के अंदर के टेंपरेचर को बढ़ा देता है अगर आप अपने घर में नेचुरल पौधे लगाएंगे तो धीरे-धीरे आपके घर के टेंपरेचर को भी सामान्य रखेगा

और आपके अंदर भी एक अलग ही महसूस होगी दोस्तों पौधे में पाई जाती है बाहर को भी सूचित कर लेता है पौधों में कुछ ऐसे तत्व मौजूद होते हैं

जो ध्वनि प्रदूषण को नियंत्रित करने में फायदा पहुंचाते हैं इसलिए अपने घर में पौधे लगाते हैं तो बाहर के शोरगुल से भी आ सकते हैं पौधे घर में लगाने का सबसे बड़ा फायदा यह है कि आपके अंदर के ड्रेस को कम करता है क्योंकि यह घर के अंदर होता है

और आपको घर नहीं साफ हवा मिलता है जिससे आपका मन शांत हो जाता है और बिल्कुल टेंशन नहीं होता इसके साथ आपका ब्लड प्रेशर लो रहता है

और रेट भी बैलेंस जाता है और आपको थकान भी महसूस नहीं होती तो दोस्तों इसलिए आप अपने घर के आस-पास ऑफिस टेबल के आस-पास या आप अपने मीटिंग रूम के आसपास नेचुरल पौधे लगाने की कोशिश करें कुछ दिनों में ही आप को बदला शुरू हो जाएगा बहुत जरूरत नहीं होती है

बहुत सारे ऐसे पौधे होते हैं जिनको धूप की जरूरत नहीं होती है तो आप बिना देर किए अपने पड़ोस के पौधशाला में जाइए

और वहां से अपने मनपसंद पौधे खरीद के लाई

अगर यह पोस्ट पसंद आई हो तो पोस्ट को लाइक कीजिए और ज्यादा से ज्यादा लोगों तक शेयर कीजिए उनको भी इस जानकारी का लाभ मिल सके अब मुझे दीजिए इजाजत धन्यवाद

डिस्क्लेमर: इस पोस्ट में व्यक्त की गई राय लेखक के व्यक्तिगत विचार हैं। जरूरी नहीं कि वे विचार या राय www.socialsandesh.in के विचारों को प्रतिबिंबित करते हों .कोई भी चूक या त्रुटियां लेखक की हैं और social sandesh की उसके लिए कोई दायित्व या जिम्मेदारी नहीं है ।

सभी चित्र गूगल से लिया गया है

Loading Facebook Comments ...

LEAVE A REPLY