क्या आप जानते है की पैक्ड फूड  धीमे जहर से काम कम नहीं जानिए कैसे ?

खाने  को कम समय में तैयार करने के लिए लोग आजकल  पैक्ड फूड का इस्तेमाल करने लगे हैं यह पैक्ड फूड शरीर के लिए बहुत नुकसान दायक  होता हैं।

ज्यादा  मात्रा में इनका इस्तेमाल  करने से शरीर में पोषक तत्वों की कमी होने लगती है।

आजकल के व्यस्त जीवन की वजह से लोग जल्दी बनने वाले खाना खाना पसंद करते हैं। इसे तैयार करने  में ज्यादा समय भी नहीं लगता है और यह आसानी से मिल भी जाते है। वैसे तो हम ऐसे कई फूड का इस्तेमाल  करते हैं जो प्रोसेस्ड होते हैं लेकिन इन फूड्स को बनाने के तरीका अलग

होता है। पैक्ड फूड को बनाने में केमिकल का इस्तेमाल किया जाता है जो शरीर के लिए हानिकारक होते हैं। इनका सेवन करने से कई स्वास्थ्य संबंधी समस्याओं हो सकती है। तो चलिये पैक्ड फूड के सेवन से होने वाले  दुष्प्रभावों के बारे में जानते हैं।

पैक्ड फूड  मे अधिक मात्रा में शुगर होती है।  पैक्ड फूड में बहुत अधिक मात्रा में फ्रक्टोज कॉर्न सिरप होता है। जिसका ज्यादा  मात्रा में इस्तेमाल करने से गंभीर समस्याएं हो सकती हैं। शुगर मैटाबॉल्जिम पर प्रभाव डालती है

जिसकी वजह से इंसुलिन प्रतिरोध, उच्च ट्राइग्लिसराइडस के साथ कोलेस्ट्रॉल का स्तर बढ़ जाता है साथ ही लिवर में वसा इकठ्ठा  होने लगता है।

पैक्ड फूड  मे  उच्च मात्रा में कार्बोहाइड्रेट होता है: बहुत से लोगों को लगता है कि शरीर को ऊर्जा कार्बोहाइड्रेट से मिलती है। साबुत अनाज में मौजूद कार्बोहाइड्रेट रिफाइंड कार्बोहाइड्रेट के मुकाबले होता है। प्रोसेस्ड फूड में रिफाइंड कार्बोहाइड्रेट होते हैं जो शरीर के लिए नुकसानदायक  होते हैं।

रिफाइंड कार्बोहाइड्रेट पाचन तंत्र में बहुत जल्दी टूट जाता है जिससे ब्लड शुगर में इंसुलिन कोण एकदम से बढ़ा देता है। लेकिन  कुछ समय बाद दुबारा से कार्बोहाइड्रेट का सेवन करने की इच्छा होती है क्योंकि ब्लड शुगर लेवल कम होने लगता है।

जिसकी वजह से स्वास्थ्य पर नकारात्मक प्रभाव पड़ता है।

पैक्ड फूड  मे  कम मात्रा में पोषक तत्व होता है : पैक्ड फूड में बाकि फूड की तुलना में बहुत ही कम मात्रा में पोषक तत्व होते हैं। कुछ फूड में सिंथेटिक विटामिन और मिनरल मिलाएं जाते हैं लेकिन प्रोसेसिंग के समय  खत्म हो जाते हैं।

पैक्ड फूड का सेवन करने से शरीर में पोषक तत्वों की मात्रा कम हो जाती है।

कम मात्रा में फाइबर: फाइबर खासकर घुलनशील फाइबर शरीर के लिए फायदेमंद होता है। यह आंतों में मौजूद फायदेमंद बैक्टीरिया को फीड करता है साथ ही प्रीबायोटिक की तरह काम करता है।

इसके साथ ही फाइबर कार्बोहाइड्रेट के अवशोषण को कम करने में मदद करता है जिससे व्यक्ति को पेट भरा हुआ महसूस होता है।

अतिरिक्त खाने लगते हैं: हम सभी को अच्छा भोजन करने का मन करता है।

मीठा, नमकीन खाना देखकर हमारी भूख बढ़ जाती है।

जिसकी वजह से हम ज्यादा खाने लगते हैं और वजन अत्यधिक बढ़ने लगता है जो स्वास्थ्य के लिए हानिकारक होता है

 

डिस्क्लेमर: इस पोस्ट में व्यक्त की गई राय लेखक के व्यक्तिगत विचार हैं। जरूरी नहीं कि वे विचार या राय www.socialsandesh.in के विचारों को प्रतिबिंबित करते हों .कोई भी चूक या त्रुटियां लेखक की हैं और social sandesh की उसके लिए कोई दायित्व या जिम्मेदारी नहीं है ।

सभी चित्र गूगल से लिया गया है

Loading Facebook Comments ...

LEAVE A REPLY