कुछ रिश्तों में हमे अपनी कमी हमेशा बरकरार रखनी चाहिए,आप यदि हर समय उनके लिए उपलब्ध रहेंगे तो आप उस चीज को महसूस नही कर पाएंगे कि आप उनके लिए कितने खास है,या फिर शायद वो आपको महसूस न करा पाए कि आप उनके लिए कितनी अहमियत रखते है,

मैं यहाँ ये नही कह रही कि वहाँ प्रेम नही होगा,,लेकिन उस प्रेम को सांस लेने की जगह ही नही होगी तो कैसे महसूस होगी उसकी कमी या तड़प,,हम हमेशा यही चाहते हैं कि हमे हर चीज पूर्ण रूप से मिले जब-जब हमे उसकी जरूरत हो लेकिन इसमें कुछ मजा नही है,,, क्योंकि हमें वो चीज पूर्ण रुप से मिल चुकी है,,

हमने उन चीजों से आनंद भी प्राप्त कर लिया,,लेकिन शायद वो कुछ दिनों बाद हम भूलने लगे,,,कहने का मेरा मतलब ये है कि वो चीज हमे यदा-कदा याद नही रहेगी क्योंकि वो पूर्ण हो चुकी है,,, लेकिन जो कमी होती है न वो हमें हमेशा याद होती है,, बार-बार हमारे जहन में आ-आकर या तो हमें तड़पाती है या खुशी देती है,,,,

हा उस कमी का एहसास हमे हमेशा ही रहता है,, जो बेहद जरूरी है, तो लाइफ में ऐसी खूबसूरत कमी का होना बहुत जरूरी है,, नही तो जिंदगी फीकी सी लगने लगती है, बहुत अच्छा लगता है उस कमी की वजह से हम एकदूसरे को हमेशा याद करे,,

एक दूसरे को महसूस करते रहे,,और चेहरे पर एक सुकूँ भरी मुस्कान और एक तसल्ली हमेशा बनी रहे,किसी के लिए हर समय उपलब्ध रहने का मतलब ये नही है हम उससे बहुत प्यार करते हैं,, या किसी के लिए हर समय उपलब्ध न रहने का मतलब ये भी नही कि हम उससे प्रेम नही करते, लेकिन इन प्यारे से रिश्तों में एक आस, थोड़ा सांस,उसकी कमी का होना बेहद जरूरी है…!!

©निशा रावल
छत्तीसगढ़

डिस्क्लेमर: इस पोस्ट में व्यक्त की गई राय लेखक के व्यक्तिगत विचार हैं। जरूरी नहीं कि वे विचार या राय www.socialsandesh.in के विचारों को प्रतिबिंबित करते हों .कोई भी चूक या त्रुटियां लेखक की हैं और social sandesh की उसके लिए कोई दायित्व या जिम्मेदारी नहीं है ।

सभी चित्र गूगल से लिया गया है

Loading Facebook Comments ...

LEAVE A REPLY